Author Topic: Meri jawani tumhare liye hai  (Read 44075 times)

Offline minihot21

  • Newbie
  • Posts: 1
  • Reputation: +0/-0
    • View Profile
Meri jawani tumhare liye hai
« on: March 03, 2011, 09:04:20 am »
Aap ise hindi font mein hi pad payenge
 मेरा नाम मिनी हैं.में अपनी एक्सपेरिएंस लिखने से पहले बता दूं की में अमेरिका में पली हूँ.अब में इंडिया एं रह रही हूँ.में एक लम्बी,पतली कमर, मोटे बूब्स,चौड़ी गंद,काले लम्बे बaaल वाली लड़की हूँ.मुझे चुदाई का शुक तीन साल से लगा हुआ है.में अपनी पहली चुदाई के बारे में बता रही हूँ.यह तब की बात हैं जब में फर्स्ट इयर में पद रही थी.एक दिन कॉलेज केलेक्टुरे चल रहे थे.मेरा अस्सिग्न्मेंट कोम्प्लेते नहीं हुआ ठाट.तो में लास्ट सीट पर जा के भीत गयी.में वहां बैठी थी तो मैंने देखा की मोहित भी पीछे बैठा है.वोह देख तो प्रोफेस्सर की तरफ था,पर उसका हाथ नीच था , वोह उसे तेजी से हिला रहा था.में समझ गयी.पर उसने मुझे देख लिया.वोह दर गया .उसने जल्दी से अपने पैर लंड के ऊपर रख लिए और ऐसे करने लगा जैसे कुछ हुआ ही नहीं.मैंने काफी साडी ब्लू फिल्म देखि हुई थी और में काफी वेब्शोव्स भी किये थे.मेंध्यान दिया तो देखा उसका सुपर अभी भी बहार दिख रहा हैं.मतलब काफी लम्बा होगा उसका लंड.
aap mujhe sexyminihot.blogspot.com par mil sakte hai.में पहले कभी नहीं चूड़ी तो मैंने सोचा इससे अच्छा मौका कहाँ मिलेगा.में उसकी डेस्क पर चले गयी.मोहित को लग रहा था की मुझे कुछ नहीं मालूम चला है.मैंने उससे क़ुएस्तिओन पूछने का बहाना किया.वोह मुझे उस समय अन्स्वेर समझा रहा था,उसने गलती से एक पैर हटा लिया.उसका लान भरा खड़ा आ गया.में जल्दी से उसे हाथ में ले ली.उसने मुझे मन किया,की यह स्साही नहीं है पर मैंने उसे छोड़ा नहीं.थोड़ी देर में उसे हसी आ गयी.फिर में उसे ले के केलने लगी,मन कर रहा था की में उसे चाटू,पर क्लास में वोह असंभव था.हम ऊपर प्रोफ्फेस्सर को देख रहे थे.पर मेरे हाथ उसके गरम मुलायम लंड से खेल रहे थे.कितनी सोफ्ट स्किन थी उसके लंड की.थोड़ी देर वो स्पर्म छोड़ने लगा.उसका स्पर्म आगे डेस्क पर पूरा गिर गया.वोह दर गया की अब कोई उस स्पर्म को देखगे तो वो तो मर गया.पर मैंने उस समय उस स्पर्म को अपने रूमाल से पोच लिया और उस रूमाल को पंटी के आगे छुट के ऊपर रख लिया.कितना सोफ्ट लग रहा ठाट.मजा आ गे.तब से यह हमारा रोज का काम हो गया.अब में उससे चुदवाना छाती थी पर टाइम और मौका नहीं मिल रहा था,और वो भी इसके बारे में कुछ नहीं कह रहा था.में बेचें हो गयी थी.एक दिन हम फिचे बैठे यही कर रहे थे की कारन फिचे आ गया.पता नहीं पीछे क्यूँ आया था वोह.उसने हमें ऐसे देख लिया था और हुस्ने लगा.में वहां से दूसरी सीट पर भाग गयी.इंटरवल में वोह मोहित के साथ मेरे पास आया, और बोला की वोह अकेले किराये पर रहता है,क्यूँ न हम वही पर प्रोग्राम बनाले.में कुछ नहीं कहा पर मन तो था.मोहित न मुझे समझाने की कोसिस करी,में नखरे करने लगी लेकिन टायर हो गयी.अगले दिन कॉलेज के बजाये सीधे हम कारन के घर पूछे,वहां उसने पूरी सफाई की हुई थी,पूरा घर चमक रहा था.मैंने देखा की पलंग तो एक ही हैं पर मुझे क्या , में तो उसी पर लातुंगी.फी हमने थोडा खाया पिया.फिर मोहित बोला चलो,मिनी स्टार्ट करें , मैंने बोला क्या.तो उसने मुझे गोद में उठा लिया.मेरे दिल जोर से धड़क रहा था , में पागल हो रही थी.उसने उठा के मुझे पलंग पर लेता दिया.उसने फिर मेरी टॉप खोल दी,फिर धीरे से ब्रा के हूक खोले और कारन को दे दिए,कारन उन्हें चाटने लगा.मोहित ने फिर मेरी जेंस भी खोल दी और मेरी पेंटी खोलने लगा,तो मैंने मनअ कर दिया.मैंने बोला पहले तुम भी तो खोलो.उसने तो झट से सब खुच खोल दिया.उसका लंड तो मस्त खड़ा था.फिर मैंने खुद ही अपनी पेंटी खोल दी.अब वो मुझे चाटने लगा में तो मस्त गरम हो गयी.उसने मेरे चूची को खूब चाता और कट.ऐसे कर रहा था की वोह कोई खाने की चीज़ हो ,कारण बेचारा खड़ा सब देख रहा था.मोहित ने मुझे अपना लंड मुह में दिया.उसने उसपर चोक्लाते करें लगायी थी.बस में भी उसे ऐसे चाटने लगी जैसे कोई लोल्लिपोप.थोड़ी देर में उसने मुहं में अपना स्पर्म छोड़ दिया.में सारा अपने मुह में पि भी लिया,गरम मुलायम मजा एजी गया.,मैंने बोला अब मेरी चुदाई भी हो जाये,तो वो बोला की अभी १५ मिनट तो लगेंगे ही,उसके लान को खड़े होने में,तो कारन आया बोला की में कर सकता हु,तो मैंने हामी भरदी,उसने मुझे उठा के छोड़ा.थोड़ी देर बाद वो भी स्पर्म छोड़ दिया.पर फिर से वही सप्रेम मुलायम गरम,मेरी कुंवारी छूट फट गयी थी , खून भी छोड़ा उसने,पर स्पर्म का अन्दर अहसास , मजा एजी गया.अब दोनों मुझे मिलके छोड़ रहे थे बरी बरी से,किसी का लंड मुह से,किसी का छूट से,दोनों ने मेरा एक एक हाथ में लिया था खूब चुदाई की उस दिन.फिर तो हर ३-४ दिन में यह होने लगा.में तो ब्लोव्जोब कर के खूब मजे लेने लगी.कॉलेज के दुसरे लडको से फिर मजे लेने लगी.अब बाद में.aap mujhe sexyminihot.blogspot.com par mil sakte hai
« Last Edit: March 03, 2011, 09:06:18 am by minihot21 »

YUM Stories

Meri jawani tumhare liye hai
« on: March 03, 2011, 09:04:20 am »

Offline Munazir

  • T. Members
  • 3 Stars
  • ***
  • Posts: 306
  • Reputation: +0/-0
  • Gender: Male
  • Your love makes me strong..
    • View Profile
    • http://www.itsmy.com
Re: Meri jawani tumhare liye hai
« Reply #1 on: March 03, 2011, 09:39:36 pm »
Good story mini keep it up

Offline PKJMKJ

  • 2 Star
  • **
  • Posts: 78
  • Reputation: +0/-0
    • View Profile
Re: Meri jawani tumhare liye hai
« Reply #2 on: February 19, 2020, 02:30:21 pm »
nice story

 

Adblock Detected!

Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors.
Please consider supporting us by disabling your ad blocker on our website.